परमाणु ऊराजा पर भरोसा : पूवजा फुकुशिमा स्तर वापस

कुडनकुलम परमाणु ऊराजा केन्द् एक रुसी-भारतीय संयुक्त पररययोरना है रहां रल-रल ऊराजा ररएकटसजा का उपययोग शकया रा रहा ह. Reuters

कुडनकुलम परमाणु ऊराजा केन्द् एक रुसी-भारतीय संयुक्त पररययोरना है रहां रल-रल ऊराजा ररएकटसजा का उपययोग शकया रा रहा ह. Reuters

कुडनकुलम एनपीपी की पहली इकाई की शुरुआत फुकुशशमा के बाद परमाणु ऊराजा उद्योग में एक मील का पत्थर साशबत हयोने वाली घटना है। घटना है।

मास्को में हुई रूसी-भारतीय सम्मट इस तथय ्े लिए भी जानी जाएगी ल् रूसी राष्ट्रपलत विादीमीर पुलतन और भारतीय प्रधानमंत्ी मनमकोहन लसंह ्को ऑन िाइन सूचना दी गई ल््ुडन्िु म एनपीपी ्ी पहिी इ्ाई ्ा लरिड से संबंध जुड़ गया है जको ल्ि्बे समय से प्रतीक्ारत था।

सम्मट ्े पररणामस्वरूप जारी संयुक्त बयान ्े मुतालब्, दकोनों पक् इस बात पर सहमत हैं ल् दूसरी इ्ाई ्े लनमामाण ्कोपूरा ्रने ्े लिए आ्वशय््दम उठाए जाएं। इस्े अिा्वा, ्वे इसी संयंत््े लिए तीसरी ्व चौथी इ्ाई ्े लिए त्नी्ी ए्वं वय्वसालय् प्रसता्व तैयार ्रने ए्वं सामानय ढांचागत अनुबंध ्को पूरा ्रने ्को ्ाम तको तेज गलत से पूरा ्रने पर भी सहमत हुए। उनहोंने पहिे ्े अनुबंधों में ्ुडन्िु म सथि पर अलतररक्त ऊजामासंयंत्ों्े लनमामाण ्व भारत में नए सथानों पर रूसी लडजाइन पर आधाररत परमाणु ऊजामासंयंत््े लनमामाण में सहयकोग ्े ्वादों पर भी दृढ़ रहने ्ी बात दकोहराई।

एनपीपी ्ुडन्िु म ्ा लरिड  से प्रायकोलग् संबंध जुड़ना ही रूस- भारत सम्मट से ए् मात् संयकोग नहीं है। महत्वपूणमा खबरों ्ा अनय जगहों, जकोअभी लनमामाणाधीन हैं या जको अभी बातचीत ्े दौर गुजर रही हैं, से भी आना जारी रहा। यहां बस उन्ी ए् संलक्प्त सूची भर दी जा रही है।

यू्े सर्ार ए्वं फ्रेंच ईडीएफ समूह लरिलटश आईसिे पर  लहंक् पॉइंट सी  ेएनपीपी पर दको नए परमाणु ऊजामा इ्ाईयों ्े लनमामाण ्े लिए शततों ्े अनुबंध पर पहुंच गए हैं। ल्वशेषज्ञ बताते हैं ल् परमाणु लनयाम् ्ायामािय (ओएनआर) यू्े ने 20 साि में पहिी बार ल्सी एनपीपी ्े लनमामाण ्े लिए सथान उपयुक्तता प्रमाणपत्जारी ल्या है।

इस्े अिा्वा, िंदन ्े अलध्ाररयों ने अपने परमाणु ऊजामा उद्कोग में चीनी ्ॉपकोरेशनों ्े लन्वेश ्ी अनुमलत भी दे दी है।  स्वयं चीन में,  ्ुडन्िु म में लजस रूसी लडजाइन पर परमाणु संयंत् बना हउसी पर लतआन्वान एनपीपी में दको पहिे से ्ायमारत ्वी्वीईआर 1000 ररएकटर ्े बाद तीसरी ए्वं चौथी इ्ाईयों ्ा लनमामाण ्ा ्ायमा शुरू हको गया है। 

इससे रूसी परमाणु त्नी् ए्वं लडजाइन जको ल् समय ्ी परीक्ा ्को भी पास ्र चु्े हैं ्ी ऊंची प्रलतष्ठा्ा ए्बार लफर सतयापन हुआ है।

फु्लशु मा हादसे ्े बाद, चीन में ए्नए परमाणु संयंत्ों ्े लनमामाण पर ए्मकोरकोटकोररयम जारी ल्या गया था। इसने ्रीब दको साि त् सब ्ुछ ए् तरह से थम गया था। लतआन्वान ऊजामा संयंत् ्ा दूसरा चरण चीन में हरी झंडी पाने ्वािा पहिा संयंत् बना लजसने फू्लशू मा ्े बाद जारी ल्ए गए ्ड़ेलनयमों ्को पूरा ्रने ्े ्ठकोर परीक्ण ्को पार ल्या।

यह 2012 ्े अनत में हुआ जब चीन ्े राष्ट्रीय परमाणु सुरक्ा प्रशासन ने तीसरी और चौथी इ्ाई ्े रूसी लडजाइन एईएस-91 पर लनमामाण ्े लिए िाइसेंस जारी ल्या।

इस्े अिा्वा, बेिारूस में पहिे परमाणु ऊजामा संयंत््ा लनमामाण भी प्रार्भहको गया, जहां भारत ए्वं चीन ्े उदाहरणों ्ा अनुसरण ल्या गया, उनहोंने रूसी त्नी् ्को तरजीह दी। अकटटूबर अनतमें बेिारूस  ्ी नेशनि सुपर्वाइजरी अथॉररटी ने पहिी ऊजामा इ्ाई ्े लनमामाण ्े लिए िाइसेंस जारी ल्या।

यह पड़कोसी लिथुआलनया में इगनालिना एनपीपी ्ी जगह पर ए् परमाणु ऊजामा्नद्े ्े लनमामाण ्ी यकोजना भी बना रहा है, लजसे यूरकोलपयन यूलनयन ्े अनुरकोध पर रको्लदया गया था। हाि ही यह सूचना आई है ल् पकोिेंड ्े आलथमा् मंत्ािय ने परमाणु ऊ जामा्े ल्व्ास ्े लिए ए् ्ायमाक्रम ्ा अनुमकोदन ल्या है।

अकटटूबर ्े प्रार्भ में रकोसातकोम ्े प्रमुख सैगगेई  ल्ररयेन्को ए्वं बांगिादेश ्ी प्रधानमंत्ी शेख हसीना रूपपुर परमाणु ऊ जामा संयंत्  ्े भल्वषय सथि्े लनमामाण्ायमा्ी शुरुआत ्ी। जको ल् इस एलशयाई देश में पहिा संयंत् हकोगा।

इस सथान पर तैयारी ्ायमा 2014 ्े शुरुआत में प्रार्भ हकोने ्ी यकोजना है, और मुखय चरण ्ा ्ायमा 2015 में शुरू हकोने ्ी यकोजना है।

प्रालध्ाररयों ्े अनुरकोध पर ्वी्वीईआर ररएकटसमा्े साथ दको ऊजामा इ्ाईयों लजन्ी ्िु क्मता 2 गीगा्वाटस से जयादा हकोगी ल् यकोजना बनाई गई है।

ए् और समाचार लफनिैंड से आया है, जहां फेनको्वौइमा ्ंसनमा ने नए हामनह्ी्वी-1 ऊजामा संयंत््े लिए रकोसातकोम ्को परमाणु त्नी् ्ी आपूलतमा ्े लिए चुना है। इस्े अिा्वा, ्ुडन्िु म ्े लरिड से जुड़ने ्े ्ुछ लदन बाद ही, यह जान्ारी आई है ल् जॉड्डन में पहिे एनपीपी ्े लनमामाण ्े लिए जारी अनतरराष्ट्रीय लनल्वदा

ें रूसी प्रसता्व ्को तरजीह दी जाएगी। रकोसातकोम ्े जनसंचार ल्वभाग ने आरजी ्को बताया ल्, “हमें जॉड्डन परमाणु ऊजामाआयकोग से हमारे प्रसता्व ्को तरजीह लदए 

जाने ्े लिए पसंद ्रने ्ा ए् पत्लमिा है। और हम पूरी प्रलक्रया ्े लन्ट भल्वषयमें पूरा हको जाने ्ी अपेक्ा रखते हैं।”

दूसरे शबदों में 2013 ्े अमनतम लदनों ने, ्ुडन्िु म ्ी पहिी इ्ाई ्ी शुरुआत ्े बाद, उन सभी िकोगों ्ी मसथलतयों ्को जकोरदार तरी्े से झ्झकोर लदया है जको परमाणु ऊजामा में तेजी से लगरा्वट ्ा अनुमान िगा रहे थे और लिख ्र या लबना लिखे नए परमाणु उजामा उतपादन ्नेद्ो ्े लन्ट रहने ्वािे िकोगों ्े ल्वरकोध ्कोउ्सा रहे थे।

इसी तथयातम् त््क ्को आधार बना ्र, सेगगेई ल्ररयान्को ्हते हैं 2030 त्परमाणु ऊजामा संयंत्ों्े लनमामाण ्ी ्वमैवि्भल्वषय्वाणी ्ी मसथलत फू्लशु मा पू्वमा्ी मसथलत में आ जाएगी।

अकटटूबर ्े अंत में सेंट पीटसमाबगमा में “नयूमक्यर फेलसलिटी, सकोसाइटी एंड लसकयकोररटी” फकोरम में बकोिते हुए श्ील्ररयान्ों ्हते हैं ल् “यह सपष्ट है ल्इस भल्वषय्वाणी में जममानी, जापान और ्ई यूरकोलपयन देश शालमि नहीं हैं। हािांल्यहां लरिटेन है जको फू्लशु मा से पहिे इसमें मौजूद नहीं था।” इस्े ्ुछ लदन बाद मास्को में अनतरराष्ट्रीय ्ॉनरिेस “एटमइ्को2013” यही ल्वचार उभर ्र आए थे। श्ील्ररयान्ों ने आविासत ल्या ल् रूस में या रूस ्े बाहर रूसी लडजाइन पर बन रहे सभी परमाणु ऊजामा संयंत् फू्लशु मा पश्ात ्े सुरक्ा मान्ों ्को पूरा ्रते हैं।

All rights reserved by Rossiyskaya Gazeta.

More exciting stories and videos on Russia Beyond's Facebook page

This website uses cookies. Click here to find out more.

Accept cookies